बन के तितली Ban Ke Titli Dil Uda Hai Lyrics – Chennai Express

Ban Ke Titli Dil Uda Hai Lyrics is from Album Chennai Express starring Shahrukh Khan, Deepika Padukone is sung by Chinmayi Sripada, Gopi Sunder. Music is composed by Vishal-Shekhar. Lyrics is penned by Amitabh Bhattacharya. Music Label is Colors TV.

Ban Ke Titli Dil Uda Hai Lyrics

Ban Ke Titli Dil Uda Hai Lyrics in English

Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin door..

Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin door..
Chalke khushbu se juda, juda, juda hai
Kahin door..o..
Aaj se yeh kaise
Ansuni se jaise
Choome andheron ko
Koi noor..

Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin door..o..

Wu.. sirf keh jaaun yaar
Aasmaan pe likh doon
Teri taareefon mein
Chashme baddoor.. o..

Ban ke titli dil uda uda uda hai
Kahin door..o..
Chalke khushbu se juda juda juda hai
Kahin door..o..

Bhoori bhoori aanhein teri
Kankhiyon se tezz kitne chhode
Dhaani dhaani baatein teri
Udte phirte panchiyonke rukh bhi mode

Adhoori thi zara si
Main poori ho rahi hoon
Tere saadgi mein
Hoke choor.. o..

Ban ke titli dil uda uda uda hai
Kahin door..o..
Chalke khushbu se juda juda juda hai
Kahin door..o..

Raatein ginke, neendein bun ke
Cheez kya hai khwaabdaari hum ne jaani
Tere sur ka, saaz ban ke
Hoti kya hai raagdaari hum ne jaani

Jo dil ko bhaa rahi hai
Woh teri shaayari hai
Ya koi shaarayaana hai fitoor..

Ban ke titli dil uda, uda, uda hai
Kahin door.. o..
Chalke khushbu se juda, juda, juda hai
Kahin door..o..
Aaj se yeh kaise
Ansuni se jaise
Choome andheron ko koi noor..

Ban ke titli dil uda uda uda hai
Kahin door..o..

Wu.. sirf keh jaaun yaar
Aasmaan pe likh doon
Teri taareefon mein
Chashme baddoor.. o..

Ban Ke Titli Dil Uda Hai Lyrics in Hindi

बन के तितली दिल उड़ा उड़ा
उड़ा है कहीं दूर..
बन के तितली दिल उड़ा उड़ा
उड़ा है कहीं दूर..
चाल के ख़ुशबू से जुड़ा जुड़ा
जुड़ा है कहीं दूर
हादसे ये कैसे
अनसुने से जैसे चूमे अंधेरों को
कोई नूर
बन के तितली दिल उड़ा उड़ा
उड़ा है कहीं दूर..

सिर्फ कह जाऊं या
आसमान पे लिख दूं
तेरी तारीफों में
चश्में बाद्दूर

बन के तितली दिल उड़ा उड़ा
उड़ा है कहीं दूर..
चाल के ख़ुशबू से जुड़ा जुड़ा
जुड़ा है दूर

भूरी भूरी आँखें तेरी
कनखियों से तेज़ तीर कितने छोड़े
धानी धानी बातें तेरी
उड़ते फिरते पंछियों के रुख भी मोड़े

अधूरी थी ज़रा सी
मैं पूरी हो रही हूँ
तेरी सादगी में होके चूर
बन के तितली दिल उड़ा उड़ा
उड़ा है कहीं दूर..
चाल के ख़ुशबू से जुड़ा जुड़ा
जुड़ा है दूर

रातें गिन के नींदें बुन के
चीज़ क्या है हम ने जानी
तेरे सुर का साज़ बन के
होती क्या है रागदारी हम ने जानी

जो दिल को भा रही है
वो तेरी शायरी
या कोई शायराना है फितूर
बन के तितली दिल उड़ा उड़ा
उड़ा है कहीं दूर..
चाल के ख़ुशबू से जुड़ा जुड़ा
जुड़ा है दूर
हादसे ये कैसे अनसुने से जैसे
चूमे अधेरों को कोई नूर
बन के तितली दिल उड़ा उड़ा
उड़ा है कहीं दूर..सिर्फ कह जाऊं या
आसमान पे लिख दूं
तेरी तारीफों में चश्मे बद्दॊर..

TitleBan Ke Titli Dil Uda Hai Lyrics
ArtistChinmayi Sripada, Gopi Sunder
MusicVishal-Shekhar
LyricsAmitabh Bhattacharya
AlbumChennai Express

Music Video of Titli Song

(Visited 8 times, 1 visits today)