है प्रीत जहाँ की रीत सदा Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics – Purab Aur Paschim

Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics in Hindi is from the Album Purab Aur Paschim (1970) sung by Mahendra Kapoor. Music is composed by Kalyanji-Anandji. Lyrics penned by Indeevar. Music Label is T-Series.

Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics

Hai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics in Hindi

जब ज़ीरो दिया मेरे भारत ने
भारत ने मेरे भारत ने
दुनिया को तब गिनती आयी
तारों की भाषा भारत ने
दुनिया को पहले सिखलायी

देता ना दशमलव भारत तो
यूँ चाँद पे जाना मुश्किल था
धरती और चाँद की दूरी का
अंदाज़ लगाना मुश्किल था

सभ्यता जहाँ पहले आयी
पहले जनमी है जहाँ पे कला
अपना भारत जो भारत है
जिसके पीछे संसार चला
संसार चला और आगे बढ़ा
ज्यूँ आगे बढ़ा, बढ़ता ही गया
भगवान करे ये और बढ़े
बढ़ता ही रहे और फूले-फले

मदनपुरी: चुप क्यों हो गये? और सुनाओ

है प्रीत जहाँ की रीत सदा
मैं गीत वहाँ के गाता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ
भारत की बात सुनाता हूँ

काले-गोरे का भेद नहीं
हर दिल से हमारा नाता है
कुछ और न आता हो हमको
हमें प्यार निभाना आता है
जिसे मान चुकी सारी दुनिया
मैं बात वोही दोहराता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ
भारत की बात सुनाता हूँ

जीते हो किसीने देश तो क्या
हमने तो दिलों को जीता है
जहाँ राम अभी तक है नर में
नारी में अभी तक सीता है
इतने पावन हैं लोग जहाँ
मैं नित-नित शीश झुकाता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ
भारत की बात सुनाता हूँ

इतनी ममता नदियों को भी
जहाँ माता कहके बुलाते है
इतना आदर इन्सान तो क्या
पत्थर भी पूजे जातें है
इस धरती पे मैंने जनम लिया
ये सोच के मैं इतराता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ
भारत की बात सुनाता हूँ..

TitleHai Preet Jahan Ki Reet Sada Lyrics
ArtistMahendra Kapoor
MusicKalyanji-Anandji
LyricsIndeevar
AlbumPurab Aur Paschim

Music Video of Hai Preet Jahan Ki Reet Song

For more songs lyrics stay connected with us at thelyricscollection.com.

(Visited 3 times, 1 visits today)