सफ़र Safar Lyrics – Notebook | Mohit Chauhan

Safar Lyrics from the Album Notebook is sung by Mohit Chauhan. Lyrics is penned by Kaushal Kishore. Music composed by Vishal Mishra. Movie stars Zaheer Iqbal And Pranutan Bahl. Music Label is T-Series.

Safar Lyrics Notebook

Safar Lyrics

Oh Bande Aa Dhundhe Hai Kya
Raahe Teri Hai Ghar Tera
Chalna Waha Jana Waha
Khud Tak Kahi Pahuche Jaha
Kadam Utha Aur Sath Mein Ho Le
Shehar Shehar Ye Tujhse Dekho Bole
Tukar Tukar Yu Apne Naina Khole
Zindagi Pee Le Zara

Behti Hawayo Ke Jaise Hai Iraade
Udte Parindo Se Seekhi Hai Jo Baate
Anjani Raaho Pe Koi Main Chala

Main Safar Mein Hu Khoya Nahi
Main Saphar Mein Hu Khoya Nahi..

Thoda Aage Bhadhe Maine Jana
Ye Sach Hai To Kya Hai
Uljhe Uljhe Sub Sawal
Zindhgi Hai Ye Kya Main Kaun Hu
Maine Ye Jana
Mujhe Mill Hi Gaye Sub Jawab

Dekho Na Hawa Kaano Mein
Mere Kehti Kya
Boli Vekh Farida Mitti Khuli
Mitti Utte Farida Mitti Dulli
Chaar Dina Da Zee Le Mela Duniyaa
Phir Jane Hona Kya

Behti Hawayo Ke Jaise Hai Iraade
Udte Parindo Se Seekhi Hain Jo Baate
Anjani Raaho Pe Koi Main Chala

Main Safar Mein Hu Khoya Nahi
Main Saphar Mein Hu Khoya Nahi

Ye Kaisa Safar Hai Jo Yu Duba Raha
Jaa Paau Kahi Main Ya Laut Ke Aa Raha
Wo Chehare Wo Aankhe Wo Yaade
Purani Mujhe Puchhati
Ye Nadiya Ka Paani Bhi Behta Hai
Kehta Yahi

Main Saphar Mein Hu Khoya Nahi
Main Saphar Mein Hu Khoya Nahi..

Khoya Nahi, Khoya Nahi
Khoya Khoya Khoya Khoya Kahi
Main Safar Mein Hu Khoya Nahi..
ओह बन्देया ढूंढे है क्या
राहें तेरी है घर तेरा
चलना वहाँ, जाना वहाँ
खुद तक कहीं पहुंचे जहां
कदम उठा और साथ में हो ले
शहर शहर ये तुझसे देखो बोले
टुकुर टुकुर यूँ अपने नैना खोले
ज़िन्दगी पी ले ज़रा

बहती हवाओं के जैसे हैं इरादे
उड़ते पिंडों से सीखी हैं जो बातें
अनजानी राहों पे कोई मैं चला

मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं

थोड़ा आगे बढ़ें
मैंने जाना ये
सच है तो क्या है
उलझे उलझे सब सवाल
ज़िन्दगी है ये क्या
मैं कौन हूँ
मैंने ये जाना
मुझे मिल ही गए सब जवाब

देखो ना हवा कानों में मेरे कहती क्या
बोली वेख फरीदा मिट्टी खुली
मिट्टी उत्ते फरीदा मिट्टी ढूल्ली
चार दिन दा जी ले मेला दुनिया
फिर जाने होना क्या

बहती हवाओं के जैसे हैं इरादे
उड़ते परिंदों से सीखी हैं जो बातें
अनजानी राहों पे कोई मैं चला

मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
ओ..

ये कैसा सफ़र है जो यूँ डूबा रहा
जाता हूँ कहीं मैं या लौट के आ रहा
वो चेहरे वो आँखें, वो यादें पुरानी मुझे पूछती
ये नदिया का पानी भी बहता है कहता येही

मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं
मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं

खोया नहीं, खोया नहीं
खोया, खोया मैं सफ़र में हूँ, खोया नहीं..

Song Details:

TitleSafar
SingerMohit Chauhan
MusicVishal Mishra
LyricsKaushal Kishore
MovieNotebook

More Songs from Notebook:

मैं तारे Main Taare | Salman Khan


लैला Laila | Vishal Mishra, Asees Kaur


नैइ लगदा Nai Lagda | Vishal Mishra, Asees Kaur


Music Video of Safar Song

If you find any mistake in the lyrics feel free to comment down below. For more songs lyrics stay connected with thelyricscollection.com.

(Visited 11 times, 1 visits today)